Tuesday , July 25 2017
Breaking News

…और पिता के सामने ही बेटी का कर लिया अपहरण

kidnap

पुलिस ने बताया-प्रेम प्रसंग का मामला।

कानपुर. चुनाव के दौरान बीजेपी ने यूपी में न गुंडाराज न भ्रष्टाचार अबकी बार बीजेपी सरकार का नारा दिया था। जनता भी सपा को हरा कर बीजेपी को सत्ता सौंप दी। अब बीजेपी राज में भी अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन बलात्कार, अपहरण, हत्या की घटनाएं विरोधियों को हमला करने का मौका दे रही हैं।

जहां एक तरफ योगी सरकार अपने 100 दिन के कार्यों की उपलब्धियां गिनाने में जुटी है तो वहीं एंटी रोमियो दल के गठन के बाद भी सूबे में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। योगी सरकार में अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं, लगता है पुलिस का डर उनमें है ही नहीं। अगर पुलिस और सरकार का डर होता तो यूपी में क्राइम का ग्राफ न बढ़ता। ताजा मामला कानपुर के सचेंडी इलाके का है। सचेंडी इलाके में लंका रोड निवासी लोडर चालक की 17 वर्षीय बेटी दोपहर अपने घर से चप्पल खरीदने को निकली थी इसी दौरान रास्ते में किशोरी का गांव के तीन युवकों ने अपहरण कर लिया।

इतना ही नहीं जब किशोरी के पिता ने आरोपियों को घेरा तो आरोपियों ने उसके पिता को जमकर पीटा। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। पिता ने आरोपियों के खिलाफ थाने में शिकायत की है। वहीं पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।
सचेंडी निवासी किशोरी के पिता के मुताबिक सोमवार दोपहर उनकी 17 साल की बेटी घर से अपने लिए चप्पल खरीदने निकली थी। भैरमपुर गांव में किशोरी को एक कार में देखकर गांव के एक युवक ने किशोरी के घर पर सूचना दी। इसके बाद पिता बेटी को खोजते हुए बिनौर क्रासिंग पहुंचे। जहां लाल सिंह पुरवा निवासी पवन की कार में बेटी बैठी थी। जिसे गांव के दीपू व रामनाथ पकड़े हुए थे। विरोध पर इन लोगों ने बेटी को कार में बंद कर दिया और उस पर हमला बोल दिया और मारपीट कर लहूलुहान कर दिया। वहीं लोगों के एकत्र होने पर आरोपी कार में बैठकर फरार हो गए। साथ ही उन्होंने पुलिस पर बेटी के पहले भी तीन दिन के लिए घर से जाने का आधार बनाकर अपहरण की जगह बहला-फुसलाकर कर भागने की तहरीर लिखाने का आरोप लगाया।
एसओ शशिभूषण मिश्र ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग का है। पिता की तहरीर पर मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश की जा रही है।

loading...
Free WordPress Themes - Download High-quality Templates